Thursday, February 5, 2009

राजेन्द्र यादव की लघुकथाओं का सफर



आप सभी आमंत्रित हैं।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

पाठक का कहना है :

आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल' का कहना है कि -

बाहर के पाठकों के लिए मूल लग्गू कथाएं और समीक्षाएं दीजिये.
sanjivsalil.blogspot.com
divyanarmada.blogspot.com

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)