Saturday, December 12, 2009

इस क्रिसमस आप अनाथ-गरीब बच्चों को चाँद पर लेकर जाएँ



अनाथ, गरीब बच्चे !!!
कैसे होते होंगे उनके ख्वाब !
ख्वाहिशें
क्या कहती होंगी सपनों में !
क्या माँ आती होगी ?
एक चौकलेट
उनकी आँखों में
किस तरह अंगडाई लेता होगा !
अकेले नींद कैसे आती होगी !
.............................
प्रश्न ही प्रश्न .............जवाब किससे ?
आइये
हम अपना एक दिन
उनके नाम कर दें.......
क्या एक दिन
बहुत महंगा होगा?
.......................................................

अपराजिता कल्याणी एक दिन उन बच्चों के नाम कर रही हैं, जो अनाथ, गरीबी और लाचारी में अपना बचपन कहीं खो देते हैं। .......25 दिसम्बर से पहले सांता क्लॉज़ उनके लिए आ रहे हैं........जी हाँ, अपराजिता ने निमंत्रण दिया है। 24 दिसम्बर को सांता उनसे कहने आ रहे हैं 'आओ तुम्हें चाँद पे ले जाएँ'............

अपराजिता को इस कार्यक्रम को आयोजित करने का दायित्व इनके ही कॉलेज सिम्बॉयसिस इंस्ट्टीट्यूट ऑफ मीडिया एंड कम्यूनिकेशन ने सौंपा है। इस कार्यक्रम में अनाथ-गरीब बच्चों के उत्थान के लिए काम कर रही तीन गैरसरकारी संगठनों आश्रय इनीशिएटिव (150 बच्चों और 15 बड‌़ों सहित), SOS चिल्ड्रैन्स विलेज ऑफ इंडिया (168 बच्चों और 15 बड़ों सहित) और सरस्वती अनाथ शिक्षण आश्रम (50 बच्चों और 5 बड़ों सहित) ने भाग लेना स्वीकार किया है।

चूँकि यह पूरा कार्यक्रम अपराजिता अकेले कर रही हैं, इसलिए इन्हें आपके किसी भी प्रकार के सहयोग ( आर्थिक, या कोई उपहार) की बहुत ज़रूरत है। इस दिन को सफल बनाने के लिए दिल से अपना योगदान दें और उनके मासूम सपनों को हकीकत की बानगी दे जाएँ ।

यदि आप आर्थिक सहयोग देना चाहें तो निम्नलिखित में से किसी खाते में ऑनलाइन मनी ट्रांसफर करें-

खुश्बू प्रियदर्शिनी (Khushboo Priyadarshini)
खाता क्रमांक.544302010003104
बैंक का नाम- यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
शाखा - विमान विहार, पुणे

या

खुश्बू प्रियदर्शिनी (Khushboo Priyadarshini)
खाता क्रमांक. 30124854596
बैंक - भारतीय स्टेट बैंक
शाखा- बोरिंग रोड, पटना

आप चाहें तो कार्यक्रम में उपस्थित होकर सहयोग राशि नगद भी जमा कर सकते हैं।


"आओ तुम्हे चाँद पे ले जाएँ... "
दिनांक: 24 दिसम्बर 2009
समय: अपराह्न 3 बजे से रात्रि 9 बजे तक।
स्थान: विट्ठ्लांजन मंगल कार्यालय, पुणे

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

10 पाठकों का कहना है :

रश्मि प्रभा... का कहना है कि -

मुझे यह बताते हुए बहुत ख़ुशी हो रही है कि इस इवेंट में श्री दिगम्बर नास्वा, श्री किशोर खोरेन्द्र,श्रीमती इंदु पूरी ,और प्रीती महेता ने
खुलकर सहयोग दिया है.........इन बच्चों की आँखों की चमक में ईश्वरीय दुआ होगी इनके लिए.........
शुक्रिया तहेदिल से इनका

रश्मि प्रभा... का कहना है कि -

एक नाम लिखना मैं भूल गयी..........रजनीश जी ने भी इस कार्य में हिस्सा लिया..........यूँ भी वे ऐसी गतिविधियों में सक्रिय हैं

रश्मि प्रभा... का कहना है कि -

इस कार्य में शमा जी ने भी योगदान दिया........कुछ चादरें भेंट कीं

रश्मि प्रभा... का कहना है कि -

कविता राठी ने भी अपना योगदान दिया

रश्मि प्रभा... का कहना है कि -

mr तनय (प्रीती महेता के पति)ने अपनी कम्पनी से,अपनी तरफ से इस कार्यक्रम की सफलता में बहुत अच्छे से साथ दिया.....

Sumita का कहना है कि -

अपराजिता कल्याणी को इस महान कार्य के लिए बहुत-बहुत साधुवाद। आपको इस कार्य में मदद के लिए श्रीमान प्रवीण केशवा की ओर आर्थिक सहायता स्वरुप tiptop packaging का चेक भेजा जा रहा है।

रश्मि प्रभा... का कहना है कि -

kavita rawat ki jagah maine rathi likh diya.......kshama chahungi

रश्मि प्रभा... का कहना है कि -

चेक किस ac में भेजा गया है,कृपया बताएं और प्रवीण केशवा जी को हार्दिक धन्यवाद.........

रजनीश का कहना है कि -

इवेंट का आयोजन तो ठीक है, पर मैं गरीब तथा असहाय लोगों के लिए कुछ स्थायी समाधान चाहता हूँ । मैं चाहूँगा कि अपराजिता कल्याणी अपनी पढ़ाई पूरी कर एक प्रखर पत्रकार बने और उसकी लेखनी हमेशा अन्याय के खिलाफ उठे । कहीं भी, कोई भी अगर गरीबों का हक मारे तो वह गरीबों की आवाज बन जाए और उनके बीच कम से कम दस लोगों को इस स्थिति में ला दे कि वे अपने हक की लड़ाई खुद बखूबी लड़ सकें ।

sumita का कहना है कि -

रश्मि प्रभा जी अच्छा लगा आप भी इस नेक कार्य में मदद कर रही हैं। चेक खाता क्र.454302010003104 युनियन बैंक आफ़ इंडिया के एकाउंट में भेजा गया है।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)