Friday, June 26, 2009

आलोक श्रीवास्तव को दुष्यंत कुमार पुरस्कार

मध्यप्रदेश साहित्य अकादमी ने इस बार अपना प्रतिष्ठित 'दुष्यंत कुमार पुरस्कार' युवा ग़ज़लकार आलोक श्रीवास्तव को देने की घोषणा की है। आलोक को यह पुरस्कार उनके बहुचर्चित ग़ज़ल संग्रह 'आमीन' के लिए दिया जाएगा। साल 2007 में राजकमल प्रकाशन, दिल्ली से प्रकाशित इस संग्रह के लिए आलोक श्रीवास्तव को मिलने वाला यह तीसरा प्रतिष्ठित साहित्यिक पुरस्कार है। इससे पहले उन्हें राजस्थान के 'डॉ. भगवतीशरण चतुर्वेदी पुरस्कार' और प्रख्यात आलोचक डॉ. नामवर सिंह के हाथों मुंबई में प्रतिष्ठित 'हेमंत स्मृति कविता सम्मान' से नवाज़ा जा चुका है। हाल ही में ग़ज़ल गायक जगजीत सिंह ने अपने नए एलबम 'इंतेहा' में आलोक की ग़ज़ल को अपनी आवाज़ दी है। प्रख्यात शास्त्रीय गायिका शुभा मुद्‍गल भी अपने चर्चित एलबन 'कोशिश' में फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ की नज़्मों के साथ आलोक के गीतों को स्वर दे चुकी हैं। पेशे से टीवी पत्रकार आलोक, मूलत: विदिशा (म.प्र.) के हैं और इन दिनों दिल्ली में न्यूज़ चैनल 'आजतक' से जुड़े हैं।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

6 पाठकों का कहना है :

AlbelaKhatri.com का कहना है कि -

aalok ji ko hardik badhaai !
lakh lakh abhinandan !

aapka samman hum apnaa hi nahin samooche hindi jadat ka samman samajhte hain
enjoy !

शैलेश भारतवासी का कहना है कि -

बहुत-बहुत बधाई

शरद कोकास का कहना है कि -

आलोक को बधाई

हिमांशु । Himanshu का कहना है कि -

आलोक जी को बधाई ।

Shamikh Faraz का कहना है कि -

आलोक जी को मेरी तरफ से बहुत बहुत मुबारकबाद. मैंने एक बार इनकी एक ग़ज़ल पढ़ी थी जो की माँ पर लिखी गई थी उसके सारे शेर आज तक याद हैं मुझे.

Manju Gupta का कहना है कि -

Sarva-pratham Aalok ji ko badhayi.
Aap kalam ke aalok se Hindi jagat ko aalokit kar rahe hai.

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)