Thursday, November 19, 2009

‘खरी-खरी’ कार्टून प्रदर्शनी का 25 वें वर्ष में प्रवेश



दिल्ली। सामाजिक, सांप्रदायिक विसंगतियों एवं सद्भाव के प्रचार-प्रसार हेतु दिल्ली के श्री किशोर श्रीवास्तव द्वारा वर्ष 1985 में तैयार की गई कार्टूनों एवं लघु रचनाओं की पोस्टर प्रदर्शनी ‘खरी-खरी’ ने इस वर्ष नवंबर माह में अपने 25वें वर्ष में प्रवेश कर लिया है। 25वें वर्ष की पहली प्रदर्शनी का आयोजन विगत दिनों गोवा की सामाजिक, सांस्कृतिक एवं शैक्षिक संस्था राष्ट्रीय शिक्षक विकास परिषद द्वारा अपने 15वें राष्ट्रीय सम्मेलन के अवसर पर गोवा में किया गया।

ज्ञात रहे, इस प्रदर्शनी का पहली बार प्रदर्शन वर्ष 1985 में दूरदर्शन ज्ञानदीप मंडल की झांसी शाखा द्वारा झांसी (उ.प्र.) में किया गया था। तब से लेकर अब-तक समय-समय पर दिल्ली सहित देश के विभिन्न स्थानों पर इसका प्रदर्शन होता रहा है। इस प्रदर्शनी में किशोर द्वारा अपने स्वरचित कार्टूनों एवं लघु रचनाओं के माध्यम से विभिन्न सामाजिक व सांप्रदायिक विसंगतियों के खिलाफ आवाज़ उठाने के साथ ही सामाजिक, सांप्रदायिक प्रेम व सद्भाव के विषयों को भी उठाया गया है। लगभग 100 रंगीन पोस्टरों की इस प्रदर्शनी में सामयिकता को ध्यान में रखते हुए समय-समय पर कुछ परिवर्तन भी किया जाता रहा है।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

2 पाठकों का कहना है :

विनोद कुमार पांडेय का कहना है कि -

प्रदर्शनी के बारे में जानकार बहुत अच्छा लगा..परंतु इंतज़ार करना होगा तब तक जब तक अगली बार दिल्ली में इसका आयोजन हो...जानकारी के लिए धन्यवाद..

श्याम सखा 'श्याम' का कहना है कि -

क्या कहेंकहना तो कार्टून बना कर था लेकिन..फिर कभी

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)