Friday, February 19, 2010

ठाकरे परिवार के खिलाफ खड़े हुए आम भोजपुरिया लोग, प्रधानमंत्री को लिखा विरोध पत्र

एक लाख पोस्ट कार्ड प्रधानमंत्री को भेजने की अपील



विगत चौदह फरवरी को दिल्ली के आई .टी .ओ स्थित राजेन्द्र भवन में जय भोजपुरी मिलन समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में एक सोशल भोजपुरी वेबसाइट के सदस्यों ने भाग लिया। समारोह की शुरूआत सदस्यों के आपसी मेल-जोल एवं परिचय आदान-प्रदान से हुई। कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए जय भोजपुरी के सक्रीय सदस्य श्री सुधीर कुमार ने राज ठाकरे एवं बाल ठाकरे द्वारा जारी राष्ट्र विरोधी कुकृत्यों के सार्वभौमिक विरोध से की। समारोह को संबोधित करते हुए सुधीर कुमार ने कहा की अब वो समय आ गया है जब आम जनता को इन राष्ट्र विरोधी तत्वों के खिलाफ आवाज बुलंद करनी चाहिए। इसी क्रम में सुधीर कुमार ने यह भी कहा की हमारा प्रथम लक्ष्य तीन माह के अन्दर लगभग एक लाख विरोध पत्र प्रधानमंत्री महोदय तक प्रेषित करना है। इस अभियान में आम जनसमुदाय का सहयोग अनिवार्य एवं आपेक्षित है। समारोह की अध्यक्षता कर रहे सत्येन्द्र जी ने भी सहयोग की अपील की।

कार्यक्रम का प्रथम चरण समाप्त होते ही श्री मोंटू सिंह जी ने सबको लिट्टी चोखा खाने के लिए निमंत्रित किया। कार्यक्रम के दूसरे चरण की शुरूआत विरोध पत्र लेखन से हुई जिसमें कार्यक्रम में उपस्थित सभी सदस्यों ने ठाकरे परिवार के प्रति प्रधानमंत्री को पत्र लिख कर अपना विरोध प्रदर्शित किया। इसी कड़ी में तमाम सदस्यों ने अपने सुझाव एवं विचार व्यक्त किये।
समारोह का अंतिम चरण भोजपुरी संगीत के उभरते कलाकारों के गीत संगीत के नाम रहा। इस क्रम में नवोदित भोजपुरी गायक पंकज प्रवीण के आगामी एल्बम "चाहत में सनम" के बारे में सूचित किया गया। साथ ही भोजपुरी गायिका भानुश्री ने अपनी एल्बम "ए डार्लिंग" की एक-एक सी.डी सबको भेंट की। कार्यक्रम के अंतिम संबोधन में सभी ने विरोध पत्र के लिए आम जन समुदाय को प्रेरित करने का संकल्प लिया। आप सभी पाठकों से अनुरोध है की इस राष्ट्रहित में जारी विरोध अभियान में हिस्सा लेते हुए इस अभियान को सफल बनाए।

अगर आप खुद ही पत्र लिख कर पोस्ट करना चाहते हैं तो अपना सन्देश लिख कर (किसी भी भाषा में) निम्नलिखित पते पर भेंजे-

प्रधानमंत्री कार्यालय
साउथ ब्लाक, रायसिना हिल्स
नई दिल्ली 110101

अगर आप स्वयं पत्र लिख पाने में असमर्थ हैं तो कृपया अपना नाम, पूरा पता kumar@bhojpuria.com पर अपने सन्देश के साथ मेल करें। ज्यादा जानकारी के लिए सीधा संपर्क करें --9716248802
शिवा नन्द द्विवेदी "सहर"

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

2 पाठकों का कहना है :

sumita का कहना है कि -

इस सराहनीय कार्य के लिये आप सभी को बहुत-बहुत शुभकामना! केवल मुंबई में रह रहे भोजपुरियों की यत्रंणा नहीं अपितु यूपी बिहार वालों के लिए भी चिन्ता का विषय है.एकजुटता ही हर समस्या का निदान है.

शिवा नन्द द्विवेदी "सहर" का कहना है कि -

jee aapakaa bahut bahut shukriyaa is v\comment ke liye .....mai ummed karungaa 1 patr aap bhi likhengee

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)